Advanced WordPress SEO Settings – हिंदी में

क्या आप Advanced WordPress SEO Settings कर चुके हैं, अक्सर ये देखा गया है कि नए Blogger अपना WordPress Blog बनाने के बाद पोस्ट डालना शुरू कर देते हैं और फिर Backlinks बनाना और अपने पेज के Ranking के लिए इंतजार करना।

क्या आपको पता है Advanced WordPress SEO Settings का मतलब क्या होता है, जब हम अपना नया ब्लॉग बनाते हैं तो उसी समय अपना ब्लॉग का सभी जरूरी सेटिंग्स को एनेबल या डिसेबल करते हैं।

और इसी को Advanced WordPress SEO Settings कहा जाता है। हमारा ब्लॉग का SEO ब्लॉग बनाने के साथ ही शुरू हो जाता है।

जब हम वर्डप्रेस इंस्टॉल करते हैं तो उसके साथ ही हमारा वर्डप्रेस ब्लॉग का बहुत सारी ऐसे ही सेटिंग्स होती है जिसको चालू या बंद करना होता है इन सभी सेटिंग सेने से निपटने के बाद ही हम अपने ब्लॉग पर कुछ पेज बनाते हैं जैसे-

  • About us
  • Contact us
  • Privacy Policy
  • December

अब इतना सब कर लेने के बाद हम अपने WordPress Blog पर पोस्ट लिखना शुरू करते हैं। लेकिन हमने बहुत से नए ब्लॉगर को देखा है कि वो अपने वर्डप्रेस ब्लॉग के बनाने के बाद जरूरी सेटिंग्स को चालू या बंद किए बिना ही blog post डालना शुरू कर देते हैं।

WordPress Blog में कुछ बदलाव ऐसे होते हैं जिसे हमें अपना ब्लॉग बनाने के साथ ही कर लेना चाहिए लेकिन कुछ बदलाव ऐसे भी होते हैं जिसे आप कभी भी कर सकते हैं।

ध्यान रहे अगर आप अपना WordPress Blog पर काफी दिन से काम करते आ रहे हैं और अब उसमें वो बदलाव करते हैं जिसे नहीं करना चाहिए तो फिर इससे आपके WordPress SEO में बहुत बड़ी गड़बड़ी हो सकती है।

इस पोस्ट में हम Advanced WordPress SEO Settings को एनेबल या डिसेबल करना सीखेंगे साथ ही आपका ब्लॉग नया है या पुराना, अगर आपका ब्लॉग पुराना हो चुका है तो इसमें कौन से बदलाव को करना सही होगा और कौन से बदलाव को करना सही नहीं होगा इस बात पर भी हम लगातार ध्यान रखेंगे।

Advanced WordPress SEO Settings

advanced wordpress seo in hindi
advanced wordpress seo in hindi

General

Advanced WordPress SEO Settings करने के लिए सबसे पहले आप अपने वर्डप्रेस एडमिन पैनल में लॉगिन करें और फिर बाएं साइड में Settings के ऑप्शन पर जाकर Jeneral पर क्लिक करें।

अब सबसे ऊपर Site Title में अपना ब्लॉग का टाइटल डालें, उदाहरण के लिए मैं अपना ब्लॉग का टाइटल Blog SEO Help डालूंगा।

नीचे Tagline में एक लाइन में लिखकर यह बताएं कि आपके साइट किस बारे में है और फिर उसके नीचे WordPress Address url और Site Address url में आपके साइट का यूआरएल दिखेगा।

उसमें चेक करें कि https हो अगर सिर्फ http है तो फिर उसमें s लगा कर https करें। (नीचे चित्र देखें)

seo

अब इसी पर Page में थोड़ा सा नीचे के तरफ स्क्रोल करें और Timezone में अपना देश का टाइम जोन चुने, उदाहरण के लिए मैं भारत से हूं तो Kolkata को चुनूंगा।

और फिर नीचे Date Format और Time Format को चुनने के बाद सबसे नीचे Save Settings के बटन पर क्लिक करके इस सेटिंग्स को सेव कर लें।

इस सेटिंग्स में आप कभी भी बदलाव कर सकते हैं यानी अगर आपने अपना ब्लॉग को कुछ दिन से चला रहे हैं फिर भी यहां पर गलतियों को सुधार सकते हैं।

Writing

अब Settings में दूसरा ऑप्शन Writing के ऊपर क्लिक करें और दाहिने साइड में Default Post Category में आप किसी भी एक कैटेगरी को चुन सकते हैं।

आप जिस भी कैटेगरी को चुनेंगे वो कैटेगरी जब भी आप कोई नया पोस्ट लिखेंगे तो उसमें डिफॉल्ट रूप से सेट हो जाया करेगा फिर आप उसे चेंज भी कर पाएंगे, अब आप नीचे Save Settings के बटन पर क्लिक करके इस सेटिंग्स को भी सेव कर ले।

Reading

अब आप सेटिंग्स के अगला ऑप्शन Reading के ऊपर क्लिक करें और दाहिने साइड में your homepage displays में your latest post को चुने, इसको चुनने से आपके साइट के होम पेज पर कोई भी विजिटर आएगा तो उसे आप के सभी नए पोस्ट दिखा करेंगे।

अगर आप कोई Static Page बना रखे हैं तो फिर दूसरा ऑप्शन a Static Page को चुनकर होम पेज में उस पेज को चुन सकते हैं।

अब नीचे के तरफ blog page show at most में अपने होमपेज पर दिखाए जाने वाले पोस्ट का नंबर चुने, अगर आप यहां पर 9 टाइप करते हैं तो आप के होम पेज पर 9 पोस्ट दिखा करेंगे।

अब थोड़ा और नीचे आए हैं और for each post in a feed include को चुने, इससे आप के होम पेज पर पोस्ट के साथ में कुछ लाइन आपके पोस्ट के पहले पैराग्राफ का दिखा करेगा।

अब सबसे नीचे search engine visibility के सामने एक छोटा डब्बा है उसको खाली ही रहने दें, अगर उस पर टिक मार्क है तो फिर टिक मार्क हटा दें और फिर सबसे नीचे Save Settings के बटन पर क्लिक करके इस सेटिंग्स को भी सेव कर ले।

आप Reading Settings में भी कभी भी बदलाव कर सकते हैं इससे SEO में कोई फर्क नहीं पड़ता है।

Discussion

Settings के अगला ऑप्शन Discussion पर क्लिक करें और फिर दाहिने साइड में आप अपने ब्लॉग पोस्ट में कॉमेंट के लिए इस सेटिंग्स में बदलाव कर सकते हैं इसे आप अपने हिसाब से बदले।

Media

Settings के अगला ऑप्शन Media पर क्लिक करें और दाहिने साइड में आपके ब्लॉग पोस्ट में डाला गया फीचर इमेज या थंबनेल के लिए साइज चुने।

मैं अपने ब्लॉग में थंबनेल साइज में width 150 और height 150 को चुना हूं। अब अगला ऑप्शन Medium Size में Max Width 300 और Max Height में 300 रखें क्योंकि मैं भी यही साइज रखा हूं आप चाहे तो कोई और साइज भी रख सकते हैं।

अगला ऑप्शन Large Size में Max Width 1024 और Max Height 1024 रख सकते हैं अब सबसे नीचे Save Settings के बटन पर क्लिक करके इस सेटिंग्स को भी सेव कर ले।

Permalink

अब Settings का अगला ऑप्शन Permalink पर क्लिक करें और दाहिने साइड में Post Name को चुने इसको चुनने से आपके ब्लॉग का यूआरएल कुछ इस तरीके से बनेगा https://blogseohelp.com/

और इस तरीके का url लगभग सभी रखना चाहते हैं क्योंकि ये सबसे छोटा होता है।

Permalink की सेटिंग्स कर लेने के बाद सबसे नीचे Save Settings के बटन पर क्लिक करके इस सेटिंग्स को भी सेव कर लें।

नोट

ध्यान रहे अगर आप अपना Blog अभी अभी बना रहे हैं तभी Permalink में बदलाव करें, अगर आपका ब्लॉग पुराना है आप यहां पर पहले से काम कर चुके हैं तो फिर Permalink में बदलाव ना करें नहीं तो आपके पोस्ट जो सर्च इंजन में रैंक कर रहे हैं उसका ट्रैफिक को आप खो सकते हैं।

Privacy

अगला ऑप्शन Privacy के ऊपर क्लिक करें और दाहिने साइड में change your privacy policy page के सामने ड्रॉप डाउन एरो पर क्लिक करें।

और आप अपने Blog पर पहले से बनाए हुए Privacy Policy Page को चुने और फिर दाहिने साइड में Use This Page के बटन पर क्लिक करें।

अब यहां तक हमने अपने WordPress Blog में Settings के अंदर आने वाला सभी सेटिंग्स को बदलाव करके सेव कर लिए हैं अब हम आगे और भी जरूरी SEO Settings को देखेंगे।

SEO-Friendly WordPress Theme चुने

हमारे साइट का Loading Speed धीमा होने का वजह Theme भी होता है हमें एक अच्छा वर्डप्रेस थीम WordPress SEO के लिए चुनना चाहिए।

अगर आपका ब्लॉग इंफॉर्मेशन या जानकारी प्रदान करता है तो हम आपको GeneratePress Theme  इस्तेमाल करने का सलाह देंगे क्योंकि ये थीम काफी लाइटवेट होता है।

वैसे तो GeneratePress को आप फ्री में यूज कर सकते हैं लेकिन अगर आपके पास बजट है तो आप इसका प्रीमियम प्लान लेकर और भी बहुत सारी प्रीमियम सर्विस के द्वारा आप अपने साइट को अच्छा से कस्टमाइज कर सकते हैं।

SEO Plugin Install करें

ऐसा नहीं है कि SEO Plugin Install कर लेने से आपका साइट सर्च इंजन में रैंक करने लगेगा बल्कि ये प्लगइन हमें अपना पोस्ट लिखते समय पोस्ट को SEO Optimized करने का सलाह देते हैं जिससे नए ब्लॉगर को सुविधा मिल जाती है।

SEO Plugin में हम आपको 3 में से किसी एक प्लगइन को इंस्टॉल करने का सलाह देंगे।

  • 1 Yoast SEO
  • 2 All In One
  • 3 Rank Math SEO

आप इन तीनों में से किसी एक SEO Plugin को इंस्टॉल कर सकते हैं फिर आप जब भी पोस्ट लिखेंगे तो ये प्लगइन आपके पोस्ट में क्या कमी है वो बताएगा और इस प्लगइन के मदद से आप अपने पोस्ट को अच्छी तरह से seo Optimized कर पाएंगे।

Google Search Console में Site को सबमिट करें और XML Sitemap बनायें

जब हम अपना Blog बनाते हैं और उस पर कुछ भेज पब्लिश कर लेते हैं तो फिर अपने ब्लॉग को Google Search Console में सबमिट करते हैं और फिर XML Sitemap बना के सर्च कंसोल में सबमिट करते हैं।

अगर आपने अभी तक अपने ब्लॉग को गूगल सर्च कंसोल में सबमिट नहीं किया है तो यहां एक गाइड है Blog Ko Google Par Kaise Laye इस पोस्ट को पढ़ें और अपने ब्लॉग को सर्च कंसोल में सबमिट करें।

अगर आप Yoast SEO Plugin को यूज कर रहे हैं तो यह प्लगइन XML Sitemap खुद ही जनरेट कर देता है।

जब आप अपने ब्लॉग को गूगल सर्च कंसोल में सबमिट कर दें तो फिर अपने वर्डप्रेस एडमिन पैनल में लॉगिन करें और बाएं साइड में नीचे SEO पर जाकर Jeneral पर क्लिक करें और अब आपके सामने Yoast SEO Plugin का जनरल सेटिंग्स ओपन हो जाएगा।

अब दाहिने साइड में ऊपर दूसरा नंबर ऑप्शन Features के ऑप्शन पर क्लिक करें और फिर नीचे XML Sitemap के आगे प्रश्न चिन्ह के आइकन पर क्लिक करें और फिर see the XML Sitemap के लिंक पर क्लिक करें।

अब आपके सामने Yoast SEO Plugin के द्वारा बनाया गया XML Sitemap ओपन हो जाएगा उसका लिंक ऊपर सर्च बॉक्स से कॉपी करें और फिर वापस सर्च कंसोल में जाकर Sitemap के ऑप्शन पर क्लिक करके सबमिट करें।

हर Post के लिए Custom URL सेट करते रहें

जब हम अपने WordPress Blog पर कोई भी Post पब्लिश करते हैं तो उसका URL वर्डप्रेस हमारे पोस्ट के Title को अपने आप ले लेता है, जो कि WordPress SEO के लिए अच्छा नहीं होता।

लेकिन ऐसा URL SEO Friendly नहीं होता है आप इसे पोस्ट पब्लिश करने से पहले चेंज कर किया करें।

उदाहरण के लिए आपके ब्लॉक का टाइटल है Advanced WordPress SEO Settings In Hindi तो आप इस पोस्ट के यूआरएल को इस प्रकार रख सकते हैं wordpress seo settings और आपके उस पोस्ट का कंप्लीट यूआरएल कुछ इस तरीके से बनेगा।

https://domain.com/wordpress-seo-settings/

Post Title के बाद Heading H2 चुने

हमारे WordPress Blog पर पोस्ट का टाइटल डिफ़ॉल्ट रूप से H1 होता है इसलिए टाइटल के बाद पहला हेडिंग को H2 बनाएं और इस हेडिंग में आपका पोस्ट का मेन कीवर्ड होना चाहिए।

हमारे पोस्ट के Title से ही Search Engine हमारे पोस्ट के बारे में जानकारी ले पाता है और यूजर्स भी पोस्ट के टाइटल से ही ये समझ पाते हैं कि उन्हें यहां पर क्या पढ़ने को मिलेगा।

इसलिए Title को अच्छी तरह से Optimized करके लिखें और आपके पोस्ट टाइटल में भी आपके पोस्ट का मेन कीवर्ड आना चाहिए।

Tags & Meta Description

अगर हमारा कोई पेज Search Engine में Rank करता है तो वहां पर सिर्फ Title और Meta Description ही दिखता है और इसे ही देखकर यूजर्स उस पर क्लिक करके आपके पोस्ट को ओपन करते हैं।

इसलिए WordPress SEO के लिए Title के साथ Description को भी इस तरीके से लिखना होता है ताकि दो लाइन के डिस्क्रिप्शन में आपके पोस्ट का संपूर्ण सारांश पढ़ने में आ जाए।

अगर आप Yoast SEO Plugin का इस्तेमाल कर रहे हैं तो कोई भी पोस्ट लिखते समय पोस्ट के लास्ट में नीचे SEO Title को नीचे दिखाए गए चित्र के अनुसार रखना चाहिए। (नीचे चित्र देखें)

seo tips

Internal linking करें

आप अपने Blog पर जब भी Post लिखें तो उसी कैटेगरी के दूसरे पोस्ट को इस नए पोस्ट से लिंक जरूर करें इससे यूजर को नेगीवेट करने में आसानी होती है और Search Engine भी आपके सभी Pages को आसानी से Crawl कर पाता है।

Internal linking के द्वारा आपका एक पेज दूसरे पेज से जुड़ा रहता है और ऐसे में यूजर को भी आपके एक पेज से दूसरे पेज पर जाने में आसानी होती है और गूगल के बोट भी आपके सभी पेजेस को आसानी से Crawl कर पाते हैं।

WordPress में Interlinking करना बहुत ही आसान है आप बस अपने पोस्ट में किसी भी टेक्स को सेलेक्ट करें और लिंक के बटन पर क्लिक करने के बाद दूसरे पेज के यूआरएल को पेस्ट करके सबमिट कर दें।

Image का नामकरण जरूर किया करें

जब आप अपने Blog Post के लिए फीचर इमेज डिजाइन करते हैं या कोई स्क्रीनशॉट लेते हैं तो उसे अपने पोस्ट में अपलोड करने से पहले उसका रिनेम जरूर किया करें।

किसी भी jpg इमेज या स्क्रीनशॉट का डिफॉल्ट नाम /image123.jpg लेकिन आप WordPress SEO के लिए इस नाम को बदलकर अपने ब्लॉग पोस्ट में इस्तेमाल किए गए फोकस कीवर्ड को रखें।

अगर आप अपने पोस्ट में कोई स्क्रीनशॉट डाल रहे हैं तो उसका नाम स्क्रीन शॉट के अनुसार तय करें।

Image में Alt Text जरूर डालें

जब आप अपने wordpress blog में कोई भी इमेज अपलोड करते हैं तो वहीं पर उस इमेज का कैप्शन और Alt Text डालने का ऑप्शन मिल जाता है आप अपना इमेज का Alt Text जरूर डालें।

फीचर इमेज के Alt Text में Focus Keywords और अन्य स्क्रीनशॉट के Alt Text में उस इमेज से संबंधित अन्य कीवर्ड डाला करें, क्योंकि गूगल का बोट किसी भी इमेज को उसके अल्ट टेक्स के द्वारा ही समझ पाता है।

और जब आप अपने इमेज या स्क्रीनशॉट में Alt Text के रूप में फोकस कीवर्ड या अन्य कीवर्ड डालते हैं तभी वो इमेज Search Engine में Rank करता है और उस इमेज के द्वारा भी आपको अच्छा खासा Traffic मिलता है।

Advanced WordPress SEO Tips- अपने Site का Performance पर ध्यान दें

अगर आप ऊपर बताए गए हैं सभी नियमों का पालन करते हैं तो आप पाएंगे कि आपके WordPress SEO का प्रदर्शन काफी सुधारने लगा है अब हम नीचे अपने साइट के अच्छा परफॉर्मेंस के लिए बात करेंगे और उसका समाधान करेंगे।

एक अच्छा Cache Plugin Install करें

हमारा साइट का Loading Speed यानी तेज गति से साइट का लोड होना एक Ranking Factor होता है और google इस दिशा में काफी ध्यान दे रहा है इसलिए आपको अपने Blog का Loading Speed पर खास करके ध्यान देना होगा।

अगर आप अपने साइट का परफॉर्मेंस में सुधार लाना चाहते हैं तो इसके लिए आपको एक अच्छा Caching Plugin Install करना होगा।

हम आपको WP Rocket Caching Plugin इस्तेमाल करने का सलाह देंगे क्योंकि यह प्लगइन आपके साइड का Cache नियंत्रित करके रखता है और इससे आपके साइट का लोडिंग स्पीड फास्ट हो जाता है।

ध्यान रहे एक पेड़ प्लगइन है इसके लिए आपको कुछ पैसे खर्च करने होंगे अगर आप बिना पैसे खर्च किए फ्री के सिंह प्लगइन का इस्तेमाल करना चाहते हैं तो आप W3 Total Cache, WP Super Cache एवं Cache Enabler का इस्तेमाल कर सकते हैं।

Image को Optimize करें

जब हम अपने Blog Post में डालने के लिए कोई इमेज डिजाइन करते हैं तो उसे वैसे ही अपने ब्लॉग पोस्ट में अपलोड कर देते हैं लेकिन ये बड़े-बड़े फाइल वाले इमेज हमारे साइट के लोडिंग स्पीड को धीमा करते हैं।

WordPress SEO इमेज के साइज को छोटा से छोटा करें इमेज के फाइल साइज को छोटा करने के लिए उस इमेज को WebP Image में कन्वर्ट करें ऐसा करने से आपके इमेज के फाइल का साइज कई गुना छोटा हो जाता है और इमेज की क्वालिटी सेम ही बना रहता है।

अभी कुछ समय पहले wordpress WebP इमेज को सपोर्ट नहीं करता था लेकिन वर्डप्रेस के नया अपडेट 5.8 में वो WebP इमेज को सपोर्ट करने लगा है।

अगर आपको नहीं पता है कि किसी भी फॉर्मेट वाला इमेज को वेब पी में कन्वर्ट कैसे करें तो यहां एक गाइड है। WebP Image

अगर आप चाहे तो Smush WordPress Plugin के द्वारा अपने साइट पर अपलोड सभी इमेज को ऑप्टिमाइज कर सकते हैं।

Last Updated Date का इस्तेमाल करें

हमें अपने पोस्ट को लगातार अपडेट करते रहना चाहिए ताकि उस पोस्ट में समय के अनुसार नई जानकारी जुड़ता रहे।

लेकिन पोस्ट को अपडेट करने के साथ उस पोस्ट में Last Updated Date दिखाई देवें तो ये Search Engine और Users के लिए भी एक पॉजिटिव संदेश होता है इससे सर्च इंजन और यूजर्स दोनों ये समझ पाते हैं कि आप अपने पोस्ट को अंतिम कितने तारीख को अपडेट किया था।

डिफ़ॉल्ट रूप से वर्डप्रेस में ऐसा कोई सुविधा नहीं है जिससे आप अपने पोस्ट को अपडेट करें तो उस दिन का तारीख वहां पर दिखाई देवें लेकिन इसके लिए आप WP Last Modified Info Plugin का इस्तेमाल कर सकते हैं।

इस प्लगइन का इस्तेमाल करने से फायदा ये होता है कि जब भी आप अपने किसी पुराने पोस्ट को अपडेट करते हैं तो उस पोस्ट में Last Updated Date दिखता है।

Broken Link की सफाई नियमित रूप से करें

हमें अपना पोस्ट में Broken Link यानी टूटे हुए लिंक की सफाई नियमित रूप से करते रहना चाहिए। हम अपने एक पेज को दूसरे पेज से इंटरलिंकिंग करते हैं और कई बार किसी पोस्ट को डिलीट कर देते हैं।

लेकिन जिस पोस्ट को आप ने डिलीट किया हो सकता है उसका लिंक आप किसी दूसरे पोस्ट में दे रखे हो तो फिर वो लिंक टूटा हुआ लिंक या Broken Link कहलाएगा।

जब आप किसी पोस्ट को डिलीट करते हैं और उसका लिंक किसी दूसरे पोस्ट में दिए रहते हैं तो उस पोस्ट के उस लिंक पर कोई भी यूजर क्लिक करता है तो उसके सामने एरर आता है क्योंकि उस पोस्ट को आप ने डिलीट कर रखा है।

जब गूगल के Crawler आपके पेज को Crawl करता है और Broken Link पाता है तो इससे आपके पेज के WordPress SEO पर बुरा प्रभाव पड़ता है।

Broken Link इंटरलिंक के साथ आउट बाउंड लिंक भी हो सकते हैं और इसके सफाई के लिए आप कुछ प्लगइन का इस्तेमाल कर सकते हैं जैसे Broken Link Checker  इत्यादि।

और अंत में

WordPress की लोकप्रियता इस बात से और ज्यादा बढ़ जाती है क्योंकि ये seo-friendly CMS है इस प्लेटफार्म पर एक नया ब्लॉगर भी आसानी से अपना ब्लॉग को चला सकते हैं।

यहां पर आप कुछ Best SEO Plugin के मदद से आप अपने साइट को Advanced WordPress SEO में सुधार ला सकते हैं।

ऊपर बताए गए स्टेप्स को फॉलो करके Blogging के क्षेत्र में आप अपने प्रतियोगी को पछाड़ने में कामयाब हो सकते हैं।

Leave a Comment