Best Blogging Tips Hindi – Blogging में सफलता का मंत्र

Loading...

अगर आप blogging करने की सोच रहे हैं या कर रहे हैं तो आपको Best Blogging Tips Hindi के बारे में जानकारी होना बहुत जरूरी हैक्योंकि तभी आप ब्लॉगिंग के क्षेत्र में सफल हो पाएंगे।

Best Blogging Tips Hindi

मैंने अपना पहला ब्लॉग 9 साल पहले चालू किया था तब से अभी तक कई सारे blog बनाएं blogger पर भी और wordpress पर भी और मुझे जिस भी दिक्कतों का सामना करना पड़ा या फिर मैंने जो भी गलतियां किया उससे मैं और कुछ सीखता गया और वही इस पोस्ट में मैं आपके साथ शेयर करूंगा।

कई बार हम अपना blog बना लेते हैं उसको बहुत अच्छे से डिजाइन कर लेते हैं और उस पर आर्टिकल लिखना शुरू कर देते हैं महीनों तक मेहनत करते हैं लेकिन कुछ छोटी-छोटी गलतियों के वजह से हम सफल नहीं हो पाते हैं।

इसलिए सफलता का एक मूल मंत्र होता है कि आप जिस भी क्षेत्र में काम करने की सोच रहे हैं पहले उस की बेसिक जानकारी हमारे पास होना चाहिए ताकि हम वहां पर सही ढंग से काम कर पाए और उसका रिजल्ट हमें अच्छा मिले।

हम यहां पर blogging के क्षेत्र में शुरुआती के बेसिक जानकारी से लेकर एडवांस लेवल तक कि वो सभी जानकारी जानेंगे जिसको फॉलो करके आप अपने blog पर काम करेंगे तो आपको जरुर सफलता मिलेगी, तो आइये जानते है Best Blogging Tips Hindi से जुडी कुछ महत्वपूर्ण बातें।

WordPress या Blogger कौन सा प्लेटफार्म चुने?

अगर आप blogging के क्षेत्र में सीरियस हैं आप लंबे समय तक ब्लॉगिंग करना चाहते हैं ब्लॉगिंग से पैसा कमाना चाहते हैं तो फिर मैं आपको यही सजेस्ट करूंगा कि आप शुरू से ही WordPress को ही चुनें।

वैसे blogger पर भी बने हुए blog से आज लोग लाखों रुपए कमा रहे हैं इस प्लेटफार्म पर भी सफलता को हासिल किया जा सकता है लेकिन WordPress की तुलना में यहां पर आप थोड़ा पीछे हो जाएंगे।

और आप चाहें तो ब्लॉगर से ही बिना कुछ इन्वेस्ट किए blog स्टार्ट कर सकते हैं और आगे चलकर वर्डप्रेस पर स्विच कर सकते हैं लेकिन उसमें थोड़ी दिक्कतों का सामना करना पड़ता है तो अगर आपके पास थोड़ा बहुत बजट है तो मेरा सजेशन यही होगा कि आप wordpress से ही चालू करिए।

और अगर आप ब्लॉगर से ही चालू करते हैं तो फिर एक custom domain जरूर खरीदीए ब्लॉगर का फ्री डोमेन का इस्तेमाल ना करें और ये आपको Go Daddy या किसी अन्य वेबसाइट पर 500 से ₹1000 के आसपास में मिल जाएगा।

Domain name आपके ब्लॉग का एड्रेस होता है इसे खरीदते समय एक बात का हमेशा ध्यान रखें कि किसी बड़े ब्रांड या कंपनी का नाम अपने डोमेन नेम में शामिल ना करें आगे चलकर आपको दिक्कत हो सकती है।

Domain Name को यूनिक बनाएं और आप अपने ब्लॉग के विषय से संबंधित ही डोमेन खरीदें क्योंकि हमारा Website SEO डोमेन नेम खरीदने से ही शुरू हो जाता है।

best blog designs – Best Blogging Tips Hindi

आपको best blog designs के लिए कोई ऐसा थीम का इस्तेमाल नहीं करना है जिससे आपका ब्लॉग का लोडिंग स्पीड धीमा हो जाये आपका blog ब्लॉगर पर हो या वर्डप्रेस पर इसके लिए एक सिंपल सा थीम का इस्तेमाल करिए जो कि हल्का हो ज्यादा चमक-दमक बढ़ाने के लिए अनाप-शनाप थीम का इस्तेमाल ना करें इससे आपके साइट की लोडिंग स्पीड बढ़ जाता है।

और अगर आपके पास थोड़ा बजट है तो आप कोई अच्छा सा पेड थीम परचेज करके यूज कर सकते हैं या फिर आप चाहें तो फ्री थीम में बहुत सारे ऐसे हैं जो लाइट होते हैं और इनका परफॉर्मेंस भी अच्छा होता है।

blog को user-friendly और seo-friendly को ध्यान में रखते हुए डिजाइन करना है और इस तरीके से डिजाइन करना है ताकि बहुत ज्यादा इमेज या लिंक का इस्तेमाल ना हो।

अगर आपका blog ब्लॉगर पर है तो सबसे पहले आप सेटिंग्स में जाकर सभी जरूरी सेटिंग्स को एनेबल या डीजेबल करना ना भूले अगर आपको ब्लॉग की सेटिंग्स नहीं पता है तो आपके लिए यहां एक गाइड है। Blogger Settings In Hindi

Blog कैसे लिखें?

अब हम Best Blogging Tips Hindi के अगले भाग में अपने आर्टिकल से जुडी कुछ बातें जानेंगे, Blog Post लिखते समय आपको यूजर का भी ध्यान रखना है और एसीओ का भी ध्यान रखना है तो हमेशा एक user-friendly एवं seo-friendly blog post लिखने की कोशिश करें।

user-friend blog post का मतलब हुआ कि आपके द्वारा लिखे गए आर्टिकल को कोई भी आसानी से पढ़ सके एवं उसे समझ में आए कि आप क्या लिखे हैं एवं आपके यूजर के सवालों का जवाब आपके ब्लॉग को पढ़कर मिल जाए।

seo-friendly blog post का मतलब हुआ कि गूगल को समझ में आ जाए कि आप अपने ब्लॉग में क्या लिखे हैं किस विषय पर लिखे हैं ताकि सर्च इंजन में कोई उस कीवर्ड को सर्च करें तो गूगल आपके उस आर्टिकल को यूजर के सामने ले आए।

blog लिखने के पहले ही keyword research कर लें इससे आपको अपना ब्लॉग लिखने में आसानी होगी आप उस कीवर्ड के ऊपर ब्लॉग लिखते जाएंगे एवं संबंधित अन्य कीवर्ड को अपने आर्टिकल में मेंशन करते जाएंगे। अगर आप ब्लॉग लिखने की कला को विस्तार से जानना चाहते है तो यहाँ एक गाइड है Hindi Blog कैसे लिखें

Quality Content लिखें

जब आपके ब्लॉग पर कोई यूजर आता है और वो तुरंत ही वापस हो लेता है तो गूगल को ये संदेश जाता है कि आपने अपने ब्लॉग में यूज़ फुल जानकारी नहीं दिया है और इस स्थिति में अगर आपने seo-friendly post भी लिखा है तो भी वह नहीं चलता है।

कहने का मतलब है कि आपके पेजेज पर विजिटर आए तो वहां पर कुछ समय देंवें एक पेज से दूसरे पेज पर जाएं आपके ब्लॉग को पढ़ें तो ऐसे में गूगल को ये संदेश जाता है कि आपने बढ़िया ब्लॉग लिखा है उससे लोगों को फायदा हो रहा है तो फिर गूगल आपके blogger pages को सर्च इंजन में उपर लाता है।

आप जिस भी विषय पर blog लिखें उस विषय को अपने पोस्ट में पूरी तरह से एक्सप्लेन करें ताकि कुछ भी कमी ना रह जाए और कम से कम 15 सौ या उससे ऊपर शब्द आपके आर्टिकल में होवे, छोटा आर्टिकल ना लिखें।

कहीं से कॉपी पेस्ट ना करें खुद से आर्टिकल लिखें क्योंकि गूगल एक सेकंड में आपके आर्टिकल को स्कैन करके पहचान लेता है कि आप खुद से लिखे हैं या कहीं से चुरा के डाले है।

ये भी पढ़ें
Guest Post Kaise Kare जानें सही तरीका
नया Blog पर Traffic कैसे लाएं – कारगर एवं वैध तरीका

अपने Blog को Update करते रहे

Best Blogging Tips Hindi में सबसे महत्वपूर्ण बात ये है की, आप करीब रोज ही अपने blog को अपडेट करें या तो पहले से लिखे गए आर्टिकल को अपडेट करें या फिर नया आर्टिकल डालें क्योंकि आप अपने ब्लॉग पर कंटिन्यू काम करते रहेंगे तो इससे गूगल के पास पॉजिटिव संदेश जाता है और वो आपके पेजेस को रैंक कराने में मदद करता है।

अगर आपने अपने ब्लॉग पर किसी विषय पर आर्टिकल लिखा हुआ है और आगे चलकर वह नियम बदल जाते हैं तो आप अपने आर्टिकल में भी बदलाव जरूर करें।

उदाहरण के लिए अगर आप अपने आर्टिकल में कोई ऑनलाइन फॉर्म भरने का प्रोसेस बताया है तो समय के साथ फॉर्म भरने का प्रोसेस कुछ चेंज होता रहता है तो उसी हिसाब से आप अपने आर्टिकल को अपडेट करते रहें ताकि यूजर को किसी भी तरह का कोई दिक्कत ना होवे, और इसे ही हम blog best practices भी कहते है।

Backlink के पीछे ना भागें

जब आप एक नया ब्लॉग बनाते हैं तो उस पर आपको लगभग 3 महीने तक क्वालिटी कॉन्टेंट डालना होता है शुरुआती में आप backlink के पीछे ना भागें।

जब आपका blog थोड़ा पुराना हो जाए तब आप backlinks के लिए सोच सकते हैं और बैंकलिंक बनाए भी तो high authority site से क्योंकि लो क्वालिटी का सौ बैकलिंक हाई क्वालिटी का एक बैकलिंक का मुकाबला नहीं कर सकता है।

अगर आपको नहीं पता है कि high authority site क्या होती है high quality backlink क्या होता है और इसे कैसे बनाएं तो यहां आपके लिए एक गाइड है High Quality Backlink कैसे बनाएं इस पोस्ट में बैकलिंक का महत्व एवं इसे बनाने का सही तरीका बताया गया है।

Social Sharing

अपने blog post को पब्लिश करने के बाद उसे google search console में इंडेक्स होने के लिए सबमिट जरूर करें इंडेक्स हो जाने के बाद अपने उस पोस्ट को जितना हो सके उतना सोशल प्लेटफॉर्म पर शेयर जरूर करें।

शेयर करने से फायदा ये होता है कि जब आपके पोस्ट पर सोशल शेयरिंग से ट्रैफिक आता है और वो आपके साइट पर समय बिताते हैं आपके पोस्ट को पढ़ते हैं तो आपके साइड का बाउंस रेट कम होने लगता है और ऐसे में गूगल आपके पेजेस को सर्च इंजन में ऊपर लाता है।

लेकिन जब आपको ऐसा लगे कि आपने पोस्ट बहुत अच्छा लिखा है इस पर विजिटर रुकेंगे तभी शेयर करें अन्यथा शेयर करने से भी कोई लाभ नही मिलता है, उल्टा बाउंस रेट और बढ़ने लगता है।

आप हर सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर अपना एक अकाउंट बनाएं और प्रोफाइल में अपने ब्लॉग का लिंक डालते जाएं इससे आपको एक हाई क्वालिटी का बैक लिंक भी मिलेगा और आप वहां पर अपने पेजेस को शेयर भी कर पाएंगे।

ये भी पढ़ें
Blog Ko Google Analytics Se Connect Kaise Kare

Blog लिखने के अलावा भी बहुत काम होतें है

blogging करना सिर्फ blog लिखना ही नहीं होता है बल्कि इसके अलावा आपको बैकलिंक बनाना या थीम कस्टमाइजेशन करना अच्छा तरीके से डिजाइन करना और थोड़ा बहुत कोडिंग का ज्ञान भी आपको होना चाहिए।

कुछ ना कुछ रोज सीखते रहें सीखने की कोई उम्र नहीं होती है और सीखने के लिए यूट्यूब या फिर गूगल पूरा ज्ञान का भंडार है ढुंढे और सिखें।

अगर आपका ब्लॉग WordPress पर है तो यहां पर हर काम के लिए plugin उपलब्ध होते हैं लेकिन जरूरत भर ही प्लगइन इंस्टॉल करें जिस काम को आप खुद से कर सकते हैं उसके लिए plugin का इस्तेमाल ना करें क्योंकि ये आपके साइट की लोडिंग स्पीड को बढ़ाता है।

plugin लिस्ट को चेक करें जो प्लगइन एक्टिव नहीं है बेकार में पड़ा है उसे डिलीट करें और कम से कम प्लगइन का इस्तेमाल करें उतना ही करें जितना से आपका काम चल जाए।

Image optimisation

ब्लॉक पोस्ट में इमेज को डालने से पहले उसे ऑप्टिमाइज करें कंप्रेस करके फाइल की साइज को कम करें इससे आपके blog की लोडिंग स्पीड मेंटेन रहता है।

इमेज ऑप्टिमाइज करने के लिए बहुत सारे एप्लीकेशन या वेबसाइट है आप उनका सहारा ले सकते हैं किसी भी इमेज को डिजाइन करने के बाद उसका साइज बहुत ज्यादा होता है उसे कंप्रेस करके कम से कम करें।

blog में image डालते समय उस इमेज का ALT tag जरूर डालें इससे आपके आर्टिकल के साथ ही इमेज भी रैंकिंग में आता है और उस इमेज के द्वारा आपके साइट पर ट्रैफिक आता है।

Blogging में धैर्य रखना जरूरी है।

blogging में सफलता के लिए समय देना बहुत जरूरी होता है ये एक दो महीने का काम नहीं होता है बल्कि यहां पर हमें लंबा समय तक मेहनत करना होता है तब जाकर हमें सफलता मिलती है।

एक नया blog पर कम से कम 3 महीना लगातार काम करने के बाद थोड़ा बहुत ट्रैफिक आना शुरू होता है और पूरी तरह से अपने ब्लॉग को सफल बनाने में सालो लग जाते हैं।

इसलिए धैर्य से काम लें मेहनत करते रहें ऊपर बताए गए बातों को फॉलो करें और एक दिन ब्लॉगिंग के क्षेत्र में आप ऊंचाइयों तक जरूर जायेंगे।

तो हमने यहां पर Best Blogging Tips Hindi के बारे में बात किया और मुझे पूरा उम्मीद है कि इस आर्टिकल को पढ़ने के बाद आपका ब्लॉगिंग का सफर काफी आसान हो जाएगा।

अगर आपको पास इस पोस्ट Best Blogging Tips Hindi से संबंधित अभी भी कोई सवाल या सुझाव है तो नीचे कमेंट करके हमें जरूर बताएं हमें आपके सवालों का जवाब देने में खुशी होगी।

2 thoughts on “Best Blogging Tips Hindi – Blogging में सफलता का मंत्र”

Leave a Comment

error: Content is protected !!