अपने Blog को Google में Top Rank कैसे करें (13 Real Tips)

हमारे बहुत से पाठकों का यह सवाल है कि हम अपने Blog Ko Rank Kaise Kare अगर आप का भी यही सवाल है तो आप बिल्कुल सही जगह पर आए हैं।

हम आपको यहां पर आपके Blog Post को गूगल के टॉप में Rank करने के लिए 17 जरूरी टिप्स बताएंगे।

हम पिछले 11 साल से डिजिटल मार्केटिंग के क्षेत्र में काम कर रहे हैं और हम अपने एवं अपने सहयोगी के Blog SEO के लिए काम करते हैं और इसी वजह से हमारे ब्लॉग का पोस्ट गूगल के फर्स्ट पेज पर रैंक करता है।

वैसे तो Blog को टॉप में रैंक कराने के लिए गूगल के तरफ से करीब 200 फैक्टर्स होते हैं जिसको हमें ठीक करना होता है लेकिन आप सिर्फ 17 फैक्टर्स को सुधार के अपने ब्लॉग को टॉप में रैंक करा सकते हैं।

इन सभी 17 सुधारों को इस पोस्ट में विस्तार से बताया गया है जिसको अपना के आपके प्रश्न How to rank blog in top का तसल्ली पूर्वक उत्तर मिल जाएगा।

ज्यादातर नए ब्लॉगर ही इस पोस्ट को पढ़ रहे होंगे क्योंकि उन्हें ही अपने ब्लॉग को गूगल के सिर्ष में रैंक कराने में ज्यादा दिक्कतें आती है क्योंकि अभी वो सीख रहे होते हैं।

और 2022 में Blog Ko Rank Kaise Kare इसके लिए गूगल के बहुत सारे नियम बदल चुके हैं और हमने उन्हीं नए नियमों के आधार पर इस पोस्ट को कस्टमाइज किया है ताकि अभी के समय में आप अपने ब्लॉग को नए सिरे से कस्टमाइज करके Top Rank दिला सकें।

Blog Ko Rank Kaise Kare

blog ko rank kaise kare hindi
blog ko rank kaise kare hindi

एक ऐसा ब्लॉग जिस पर पोस्ट या सामग्री लिखी गई हो या एक ऐसा ब्लॉग या वेबसाइट जो सिंगल पेज का टूल वेबसाइट हो या फिर अमेजॉन या फ्लिपकार्ट जैसा प्रोडक्ट वाली वेबसाइट इन सब को रैंक कराने का नियम सेम ही होते हैं।

हम यहां पर Blog Ko Rank Kaise Kare इसके लिए आपको अपने ब्लॉग या वेबसाइट को गूगल के टॉप में रैंक कराने के लिए 17 नियम बताने जा रहे हैं इन नियमों को आप अपने नए या पुराने लिखे गए सभी पोस्ट में अप्लाई करके अच्छा नतीजा पा सकते हैं।

आपके Blog Post को Google के शीर्ष स्थान पर Rank कराने के लिए नीचे बताए गए सभी स्टेप्स को एक-एक करके फॉलो करते जाएं।

इसमें मेहनत जरूर लगेगा लेकिन इन सभी स्टेप्स को फॉलो करने के बाद आप कुछ दिन इंतजार करें और फिर आप पाएंगे कि आपका ब्लॉग का पोस्ट धीरे-धीरे सर्च इंजन में टॉप में आने लगेगा।

1. अपने ब्लॉग विषय से संबंधित डोमेन नेम चुने

ब्लॉग रैंकिंग का सिलसिला ब्लॉग बनाने से ही शुरू हो जाता है Blog Ko Rank Kaise Kare इसके लिए आपका ब्लॉग का विषय क्या है उसी के अनुसार आप अपना डोमेन नेम खरीदें।

उदाहरण के लिए मैं अपना इस ब्लॉग पर Blogging और SEO से संबंधित जानकारी डालता हूं इसलिए मैंने इसका डोमेन नेम blogseohelp रजिस्टर करवाया था ये हमारे ब्लॉग एसइओ के लिए एक इंपॉर्टेंट फेक्टर होता है।

लेकिन ये भी जरूरी नहीं है कि सिर्फ अपने ब्लॉग से संबंधित डोमेन ले लेने से ही सब काम हो जाता है इसके अलावा और भी बहुत सारे नियमों को फॉलो करना होता है।

अगर आपने अपना डोमेन नेम रजिस्टर कराते समय ब्लॉग के विषय पर ध्यान नहीं दिया था तो भी कोई बात नहीं आप आगे के स्टेप्स को फॉलो करें।

2. एक अच्छा Hosting कंपनी को चुने।

आज के समय में हमारे Blog का Loading Speed ब्लॉग के रैंकिंग के लिए बहुत बड़ा मायने रखता है क्योंकि गूगल भी उन्हीं के साइट को रैंक करता है जिनके पेज लोड स्पीड फास्ट होता है।

आपके साइड का लोडिंग स्पीड एवं परफॉर्मेंस की स्थिति अच्छी बनी रहे इसके लिए आपको एक अच्छा होस्टिंग प्रोवाइडर को चुनना होगा।

हम आपको DigitalOcean वीपीएस सर्वर लेने का सलाह देंगे वैसे डिजिटल ओशन को चलाना इतना आसान भी नहीं है इसके लिए आपके पास थोड़ा टेक्निकल जानकारी का होना जरूरी होता है।

लेकिन अगर आप एक बार DigitalOcean को अच्छी तरह से चलाना सीख लेते हैं तो फिर आप एक बहुत ही अच्छा होस्टिंग पर अपने ब्लॉग को चला पाएंगे और ये अन्य बड़ी होस्टिंग कंपनियों से महंगा भी नहीं होता है।

बहुत से लोग सस्ता के चक्कर में अनाप-शनाप होस्टिंग कंपनी को चुन लेते हैं लेकिन ध्यान रहे हमारा वेबसाइट का मूल या जड़ होस्टिंग ही होता है इसलिए कंजूसी ना करें और एक अच्छा होस्टिंग प्रोवाइडर को चुने।

3. अपने Blog के URL को Optimize करें।

जब हम अपना नया Blog बनाते हैं तो सबसे पहला काम होता है अपने ब्लॉग के यूआरएल स्ट्रक्चर को सेट करना।

अगर आपका WordPress Blog है तो वर्डप्रेस एडमिन पैनल को ओपन करें फिर Settings पर जाने के बाद Permalink इस ऑप्शन पर क्लिक करें।

Post Name Permalink
Post Name Permalink

अब दाहिने साइड में 6 तरह के URL आपके सामने दिखेंगे इसमें हम आपको Post Name को चुनने के लिए सजेस्ट करेंगे।

ये यूआरएल सबसे छोटा होता है और बिल्कुल साफ सुथरा एवं SEO के लिए बेस्ट होता है।

लेकिन अगर आप अपने ब्लॉग पर कुछ दिन काम कर चुके हैं कुछ पोस्ट डाल चुके हैं तो फिर इसमें बदलाव ना करें इसमें बदलाव ब्लॉग बनाने के साथ ही कर लेना चाहिए।

Post URL को Optimize करें।

जब भी आप अपने ब्लॉग पर पोस्ट लिखे तो उसके URL को ऑप्टिमाइज करें और आप अपने ब्लॉग पोस्ट के मेन Keyword यूआरएल में जरूर डालें।

WordPress हमारे ब्लॉग पोस्ट के यूआरएल को डिफ़ॉल्ट रूप से टाइटल को रख देता है लेकिन हमें इसमें बदलाव करके SEO Friendly URL बनाना चाहिए।

इसके लिए आप Yoast SEO या Rank Math प्लगइन को इंस्टॉल करके उसके द्वारा बताए गए सुझावों को अपना सकते हैं।

4. SEO Friendly Post लिखें।

हमें अपना ब्लॉग पोस्ट को SEO Friendly एवं User Friendly बनाना चाहिए यानी हमारे ब्लॉग में क्या है ये बात गूगल भी समझ पाए और यूजर भी।

एक एसइओ फ्रेंडली पोस्ट कैसे लिखें इसके लिए यहां एक गाइड है SEO friendly article इस गाइड में पोस्ट लिखते समय यूजर और गूगल दोनों का ध्यान रखा गया है।

Title Tags को Optimize करें।

हमारे ब्लॉग पोस्ट का टाइटल इस तरीके से होना चाहिए ताकि सर्च इंजन में रैंक कर रहे उस टाइटल को यूजर पढ़कर ये समझ पाए कि आपके पोस्ट में उसे क्या मिलने वाला है।

और साथ ही गूगल भी ये पता लगा पाए की जिस चीज को यूजर ढूंढ रहे हैं वही आपके पोस्ट में हैं इस तरह से हमें अपने पोस्ट के टाइटल और टैग को ऑप्टिमाइज करना चाहिए।

अपने ब्लॉग पोस्ट के टाइटल टैग को Optimize कैसे करें इसके लिए इस गाइड को पढ़े। How To Right Perfect Title Tag.

लंबा पोस्ट पब्लिश करें

लंबा पोस्ट का मतलब बड़ा पोस्ट यानी आप जिस भी विषय पर पोस्ट लिखें उस विषय को अपने पोस्ट में पूरी तरह से एक्सप्लेन्ड करें और कम से कम 1000 शब्द और ज्यादा से ज्यादा 3 से 4000 शब्दों का पोस्ट लिखें।

अक्सर ये देखा गया है कि जो लोग अपने पोस्ट में उस विषय को पूरी तरह से कवर किया है तो उन्हीं का पोस्ट टॉप में रैंक करता है।

जब आप किसी विषय को हर तरफ से कवर करने की कोशिश करेंगे तो वो पोस्ट अपने आप ही लंबा हो जाएगा लेकिन बड़ा पोस्ट करने के चक्कर में अनाप-शनाप चीजें ना लिखें सिर्फ जरूरी बातें ही लिखें।

5. Keywords Research करें

अगर हमें SEO Friendly Post लिखना है जो सर्च इंजन में टॉप स्थान पा सके तो फिर हमें पोस्ट लिखने से पहले उस पोस्ट के लिए कीवर्ड रिसर्च करना होता है।

कीवर्ड रिसर्च करने के लिए कई सारे फ्री एवं पेड टूल है आप अपने आवश्यकता के अनुसार इनका इस्तेमाल कर सकते हैं और साथ ही इस गाइड Keyword Research Kaise Kare को पढ़ना ना भूले।

कीवर्ड रिसर्च करने के लिए आप गूगल का भी इस्तेमाल कर सकते हैं इसके लिए आप अपने क्रोम ब्राउज़र में किसी कीवर्ड को टाइप करें उदाहरण के लिए Digital Marketing और फिर उसे सर्च करें और फिर बिल्कुल नीचे लास्ट में आ जाएं तो आपको उसी कीवर्ड से संबंधित 10 से 15 कीवर्ड दिख जाएंगे।

google suggested keywords
google suggested keywords

ये जितने भी कीवर्ड दिख रहे हैं इसे लोग सर्च करते हैं इसलिए गूगल इन कीवर्ड को आपके सामने सजेस्ट करता है आप चाहे तो इन कीवर्ड को अपने पोस्ट में इस्तेमाल कर सकते हैं।

Long Tail Keyword चुने

अगर आपका Blog अभी नया है तो आप लंबा से लंबा कीवर्ड का इस्तेमाल करें जिसे Long Tail Keyword कहा जाता है क्योंकि आप छोटा कीवर्ड यानी Short Tail Keyword पर अपने ब्लॉग पोस्ट को Rank नहीं करा पाएंगे क्योंकि अभी आपका ब्लॉग नया है।

उधारण के लिए आपका किवर्ड है “blog seo” तो आप इसे इस प्रकार लंबा कर सकते हैं “blog seo kaise kare” और इस बड़े किवर्ड को Long Tail Keyword कहा जाता है।

6. Image Optimize करें।

हम अपने Blog Post में एक फीचर इमेज जरुर डालते हैं इसके अलावा अगर हम कोई प्रोसेस बता रहे हैं तो फिर उसे दर्शाने के लिए स्क्रीनशॉट या अन्य इमेज डालते हैं।

किसी भी इमेज को ब्लॉग पोस्ट में अपलोड करने से पहले उसका ऑप्टिमाइजेशन जरूर करें यानी उसके फाइल साइज को कम करें और उस इमेज के नाम को बदलें, ये Blog SEO के लिए महत्वपूर्ण होता है।

अपने ब्लॉग पोस्ट में डालने के लिए सभी इमेज के फाइल साइज 30 kb से कम ही रखें इसके लिए आप अपने इमेज को वेब पी फॉर्मेट में कन्वर्ट कर सकते हैं।

आपका इमेज चाहे किसी भी फॉर्मेट में हो उसे वेब पी फॉर्मेट में कन्वर्ट करने के लिए यहां एक गाइड है। WebP Image.

जहां जरूरत हो वहां फीचर इमेज डाले

अगर आप अपना पोस्ट अपने वर्डप्रेस ब्लॉग में डालते हैं तो वहां पर फीचर इमेज डालने का ऑप्शन दिया गया होता है जिसके ऊपर क्लिक करके आप अपना पोस्ट के लिए फीचर इमेज को अपलोड करते हैं।

और फिर वर्डप्रेस आपके पोस्ट में टाइटल के नीचे उस इमेज को दिखाता है लेकिन ऐसा ना करके आप उस फीचर इमेज को जहां पर ज्यादा जरूरत हो वहां पर अपलोड कर सकते हैं।

अगर टाइटल के नीचे ही फीचर इमेज की आवश्यकता है तब आप वर्डप्रेस में फीचर इमेज के ऑप्शन पर क्लिक करके इमेज अपलोड करें और अगर उस इमेज की आवश्यकता पोस्ट में नीचे है तो फिर फीचर इमेज के ऑप्शन का उपयोग न करके जहां ज्यादा जरूरत हो वहां पर इमेज को अपलोड करें।

6. Blog Post को समय-समय पर अपडेट करें।

हमें अपना Blog पर पुराने पोस्ट को समय-समय पर अपडेट करते रहना चाहिए इसके लिए इस गाइड को पढ़ें। Old Blog Posts Update कैसे करें

अपने पुराने पोस्ट में जो सामग्री अब किसी काम की नहीं रह गई है उसे रिमूव करें और नई सामग्री डाले साथ ही इमेज में भी बदलाव करते रहें।

अगर आप अपने किसी ब्लॉग पोस्ट को लंबे समय तक अपडेट नहीं करते हैं और उस में लिखी गई सामग्री वर्तमान समय में किसी काम की नहीं है तो फिर Dead Content माना जाता है।

एक पोस्ट को अपडेट करने में उतना ही मेहनत लगता है जितना उसे लिखने में लगा था, बहुत से लोग सिर्फ टाइटल में डेट को चेंज कर देते हैं और वो समझते हैं कि उन्होंने अपना पोस्ट को अपडेट कर दिया।

लेकिन सिर्फ दो चार शब्द को बदल देने से पोस्ट अपडेट नहीं होता है उस पूरा पोस्ट को अभी वर्तमान समय में क्या प्रोसेस चल रहा है या फिर उसमें क्या-क्या बदलाव करने की जरूरत है उसे बारीकी से देखें और फिर चेंज करें।

7. अपने Blog के Loading Speed को बढ़ाएं

हमारे Blog के Loading Speed को बढ़ाने में सबसे महत्वपूर्ण भूमिका हमारे द्वारा इस्तेमाल किया जा रहा Hosting का होता है।

इसलिए एक अच्छा और Fast Hosting कंपनी को ही चुनें इसके बारे में हमने ऊपर बात भी किया है लेकिन इसके अलावा भी और भी बहुत सारी चीजें होती है हमारे ब्लॉग के लोडिंग स्पीड बढ़ाने के लिए।

आपके ब्लॉग का पोस्ट 3 सेकेंड के अंदर ओपन होना चाहिए क्योंकि ये एक महत्वपूर्ण रैंकिंग फैक्टर होता है और इसे आप Google Search Console में page experience इस ऑप्शन पर जाकर चेक कर सकते हैं।

आप अपने ब्लॉग के लोडिंग स्पीड को चेक कर सकते हैं इसके लिए गूगल के द्वारा बनाया हुआ एक टूल है PageSpeed Insights.

इस टूल के मदद से आप LCP Score से लेकर FID Score और इसके अलावा और भी बहुत सारी चीजों को चेक कर सकते हैं और फिर उसमें सुधार कर सकते हैं।

अपने ब्लॉग के लोडिंग स्पीड को फास्ट करने के लिए आप इस गाइड को पढ़ें और यहां पर बताए गए बातों को फॉलो करें Website की Loading Speed कैसे बढ़ाये

File और Database को Optimize करें

Blog के अच्छा Ranking के लिए आपके साइट की लोडिंग स्पीड फास्ट होनी चाहिए और इसके लिए आपको अपने ब्लॉग के फाइल और डेटाबेस को ऑप्टिमाइज करना आना चाहिए।

आपका Hosting चाहे शेयर्ड होस्टिंग हो या VPS या कोई और अपने ब्लॉग के फाइल और डेटाबेस को ऑप्टिमाइज करने के लिए आपके पास टेक्निकल जानकारी की आवश्यकता होती है।

आप अपने होस्टिंग को अच्छी तरह से चलाना सीखे इसके लिए गूगल सर्च करें यूट्यूब पर वीडियो देखें। क्योंकि जब आप फाइल और डेटाबेस को ऑप्टिमाइज करना सीख जाएंगे फिर आपके साइट का लोडिंग स्पीड फास्ट होगा।

8. Bounce Rate कम करें

Bounce Rate ब्लॉग के रैंकिंग के लिए एक महत्वपूर्ण फैक्टर होता है अगर आपके पेज पर कोई विजिटर आता है और उसी पेज से वापस चला जाता है तो फिर आपके साइट का बाउंस रेट बढ़ता है और ये SEO के लिए अच्छा नहीं होता।

अगर आपके किसी पेज पर कोई यूजर आता है और उस पोस्ट को पढ़ने के बाद दूसरे पोस्ट पर जाता है और फिर उस पोस्ट को भी पढता है इसके साथ ही अपना प्रतिक्रिया देता है तो फिर आपके साइट का बाउंस रेट कम होता है और इससे गूगल के पास एक पॉजिटिव संदेश जाता है।

आपका ब्लॉग एक अच्छा Ranking पाये इसके लिए आपके साइट का बाउंस रेट कम से कम होना चाहिए (औसतन 60 से 90 परसेंट) आप बाउंस रेट को Google Analytics अकाउंट में चेक कर सकते हैं।

Bounce Rate
Bounce Rate

Bounce Rate कम करने के लिए Interlinking करें

बाउंस रेट को कम करने के लिए आपको अपना ब्लॉग पोस्ट इस तरह से लिखना होगा जिससे यूजर उसे शुरू से लेकर लास्ट तक पढ़े और हर पोस्ट में इंटरलिंकिंग करना होगा।

इंटरलिंकिंग के द्वारा यूजर आपके एक पोस्ट से दूसरे पोस्ट में जाता है और इस तरह से वो आपके साइट पर ज्यादा से ज्यादा देर तक समय बिताता है फिर आपके साइट का Bounce Rate घटने लगता है।

बाउंस रेट के विषय में हमने एक संपूर्ण पोस्ट लिखा है आप इस गाइड को पढ़ें Bounce Rate कम कैसे करें

9. Broken Link चेक करते रहें।

Broken Link यानी टूटा हुआ लिंक और इस तरह के लिंक आपके Blog के Ranking पर बुरा प्रभाव डालते हैं।

इंटरलिंकिंग में भी ब्रोकेन लिंक होते हैं और आउट बाउंड लिंक में भी ब्रोकेन लिंक होते हैं अगर आप अपने एक पोस्ट का लिंक दूसरे पोस्ट में इंटरलिंकिंग किए हैं और उस पोस्ट को आगे चलकर डिलीट कर देते हैं तो फिर दूसरे पोस्ट में जिसमें उस डिलीट पोस्ट का लिंक डाले थे उसे हटाना होगा।

क्योंकि उस पोस्ट पर कोई भी यूजर क्लिक करेगा तो उसके सामने 404 Not Found का Error आएगा क्योंकि उस पोस्ट को आप डिलीट कर चुके हैं और ये SEO के लिए अच्छा नहीं होता है।

ऐसे ही अगर आप किसी बाहरी साइट को अपने पोस्ट में लिंक देते हैं और वो साइट आगे चलकर डिलीट हो जाती है तो वो लिंक भी ब्रोकेन लिंक कहा जाएगा उसे या तो आप बदले या फिर हटाए।

10. Social Media Platform पर Blog Post Share करें।

बहुत सारे पॉपुलर Social Media Platform हैं जैसे Facebook, Instagram, Twitter, Linkedin, Tumblr इत्यादि इन प्लेटफार्म पर आप अपने ब्लॉग पोस्ट को शेयर कर सकते हैं।

जब आप सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर अपना पोस्ट को शेयर करते हैं और वहां से आया हुआ यूजर्स आपके साइट पर समय बिताता है और एक पेज से दूसरे पेज पर जाता है अच्छा प्रतिक्रिया देता है तो फिर गूगल के पास एक पॉजिटिव संदेश जाता है और फिर गूगल आपके पेज को Rank कराने में मदद करता है।

सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर प्रोफाइल बनाते समय आप उन सभी प्रोफाइल में अपने Blog का लिंक भी दे सकते हैं इससे आपको Backlink भी उन सभी साइट से मिल जाता है।

11. Guest Post लिखें

आप Guest Post के जरिए High Quality Backlink पा सकते हैं इसके लिए आपको उन साइट का लिस्ट तैयार करना होगा जो गेस्ट पोस्ट स्वीकार करते हैं।

गेस्ट पोस्ट के बारे में विस्तार से जानकारी पाने के लिए इस गाइड को पढ़ें Guest Post Kaise Kare इस पोस्ट में कुछ ऐसे साइट का लिस्ट भी दिया गया है जो हिंदी एवं इंग्लिश में लिखा हुआ पोस्ट स्वीकार करते हैं।

जब आपके पास एक बार गेस्ट पोस्ट स्वीकार करने वाले साइट का लिस्ट मिल जाएगा तो फिर आप इनसे ईमेल के द्वारा एक अच्छा मैसेज लिख करके संपर्क करके गेस्ट पोस्ट के लिए बात कर पाएंगे और फिर एक हाई क्वालिटी का पोस्ट लिखकर उन्हें दे पाएंगे।

आप जो पोस्ट गेस्ट पोस्ट के रूप में देंगे उसमें आपके पोस्ट या फिर ब्लॉग का लिंक होता है और ऐसे में आपको एक हाई क्वालिटी का डु फॉलो लिंक मिल जाता है।

12. Voice Search के लिए Keywords को Optimize करें

आज के समय में ज्यादातर लोग बोलकर सर्च करते हैं और google भी वॉइस सर्च कर खास करके ध्यान दे रहा है।

बहुत से लोग अपने ब्राउज़र में कीवर्ड को टाइप करते हैं और बहुत से लोग बोलकर लिखते हैं इसे ही वॉइस सर्च कहा जाता है।

आप इस बात पर रिसर्च करें कि आप जिस विषय को अपने पोस्ट में लिखने जा रहे हैं उस विषय को लोग किस तरह से बोलकर सर्च करते हैं फिर आप उसी तरह के कीवर्ड अपने पोस्ट में इस्तेमाल करें।

13. Google Search Console को चेक करते रहें

आप अपने ब्लॉग को Google Search Console में verify किए ही होंगे ये एक पूरी तरह से फ्री और बहुत ही पावरफुल टुल है।

इस टुल के मदद से आप अपने वेबसाइट पर कई तरह के कमियों को देख पाते हैं और फिर उसे सुधार सकते हैं।

गूगल सर्च कंसोल को समय-समय पर ओपन करके अपने वेबसाइट के कमियों को जांचने रहें और उसे सुधारने की कोशिश करें क्योंकि ये आपके Blog को Top में Rank कराने के लिए बेहद जरूरी है।

Blog Ko Rank Kaise Kare

ऊपर हमने एक Blog Ko Rank Kaise Kare इसके लिए लीगल तरीका बताया है बहुत से लोग अपने ब्लॉक को जल्दी से जल्दी ही रन कराने के लिए इनलीगल तरीकों को अपनाते हैं।

यानी जिसे गूगल बिल्कुल भी पसंद नहीं करता है और ऐसे में हो सकता है कि शुरुआती में आपका ब्लॉग रैंक भी कर जाए लेकिन बाद में गूगल के नजर में आते ही वो ब्लॉग सर्च इंजन से गायब हो जाता है।

इसलिए सर्च इंजन के नियमों के अनुसार ही लीगल तरीके से अपने Blog को Rank कराने की कोशिश करें गलत तरीकों को न अपनाएं।

5 thoughts on “अपने Blog को Google में Top Rank कैसे करें (13 Real Tips)”

  1. kya likte ho bhai tum. manana padega. Agr koi mujhse puche blogging kaha se sikhe toh me ye wala site hi batane wala hu mazak nahi aisa post krna. Good.

    Reply

Leave a Comment

error: Content is protected !!