Blog Post Ko Google Ke First Page Pe Kaise Laye हिंदी में

सभी नए Bloggers का एक ही सवाल होता है कि Blog Post Ko Google Ke First Page Pe Kaise Laye हम यहां पर गूगल के तरफ से आए हुए 2021 में सभी नए अपडेट को ध्यान में रखते हुए Page Ranking के वो सभी फैक्टर्स बताएंगे जिनको अपना के आपको अपने नए ब्लॉग या वेबसाइट को गूगल के फर्स्ट पेज में लाने में मदद मिलेगी।

Blog Post Ko Google Ke First Page Pe Kaise Laye

2021 में गूगल के तरफ से Page Ranking से संबंधित लगातार कई अपडेट आए हैं और आपको अपने Blog या Website को इन्हीं अपडेट के हिसाब से ढालना है तभी आप अपने ब्लॉग या ब्लॉग पोस्ट को गूगल के फर्स्ट पेज एवं टॉप में ला पाएंगे।

किसी भी सर्च इंजन के पहले पेज में करीब 10 रिजल्ट होते हैं लेकिन इन 10 में भी हमें अपने पेजेस को टॉप में लाना होता है क्योंकि अगर आपका पेज दसवें नंबर पर रैंक कर रहा है तो भी आपको कुछ खास फायदा नहीं होता है, पहले दूसरे या फिर तीसरे नंबर पर ही हमें ट्रैफिक का लाभ मिल पाता है।

अब हम आपको गूगल के तरफ से 2021 में Page Ranking के लिए आए हुए अपडेट्स में बताए गए बातों को बताने जा रहे हैं जिसमें आप को सुधार करके अपने पेज को टॉप में लाना है।

2021 Google Algorithm Page Ranking Factors

Ranking Factorsवजन
लगातार पोस्ट डालना26 प्रतिशत
Title में कीवर्ड का होना22 प्रतिशत
High Quality Backlinks16 प्रतिशत
एक विषय पर पोस्ट लिखना12 प्रतिशत
आंतरिक लिंक (internal link)5 प्रतिशत
Visitors पेज पर कितना देर रुक रहे हैं5 प्रतिशत
Blog का Mobile Friendly होना4 प्रतिशत
Blog Page का Speed3 प्रतिशत
Site की Security, SSL Certificate2 प्रतिशत
Ofsite Mentions1 प्रतिशत
Schema Markup, Data का होना1 प्रतिशत
URL में मेन कीवर्ड का होना1 प्रतिशत
Meta Description में मेन कीवर्ड का होना1 प्रतिशत

इसके अलावा भी 18 Factors और होते हैं लेकिन वो इतना जरूरी नहीं होते हैं जितना जरूरी ऊपर बताए गए टेबल में फैक्टर्स को ध्यान में रखकर वेबसाइट का निर्माण करना एवं पोस्ट लिखना होता है।

अब हम इन सभी Factors को थोड़ा विस्तार में बता रहे हैं ताकि आप इसे अच्छी तरह से समझ सके एवं इसका पालन कर सकें।

लगातार पोस्ट डालना (26%)

अगर आप अपने साइट पर लगातार पोस्ट डाल रहे हैं तो गूगल के नए अपडेट के अनुसार Page Ranking Factors में आपको 26% का फायदा मिलेगा।

आप अपने साइट पर पोस्ट डालने का एक नियम बना ले रोज, दूसरे दिन, तीसरे दिन, या चौथे दिन और उस दिन को भी 11 टाइम फिक्स कर लें और उसी टाइम पर पोस्ट पब्लिश करते रहें इससे आपके पेज को गूगल के Crawler तेजी से Crawle करते हैं और Page Index करके सेव कर लेते हैं।

लगातार पोस्ट पब्लिश करने के रेस में पोस्ट की क्वालिटी डाउन नहीं होनी चाहिए क्योंकि गूगल भी यही चाहता है कि उसके सर्च इंजन में जो भी पेज टॉप में रैंक करें उस पोस्ट की क्वालिटी उत्तम होवे।

Title में Keyword का होना (22%)

जब हम कोई पोस्ट लिखने की सोचते हैं तो उसके लिए सबसे पहले कीवर्ड रिसर्च करते हैं उदाहरण के लिए मेरे इस पोस्ट का कीवर्ड Blog Post Ko Google Ke First Page Pe Kaise Laye है या फिर ये कीवर्ड ऐसे भी हो सकता है 2021 Google Algorithm Page Ranking Factors.

जब आप अपने मेन कीवर्ड को Title में डालते हैं तो गूगल को आपके पोस्ट में लिखी गई सामग्री को समझने में आसानी होती है और साथ ही सर्च इंजन में रेंक कर रहे आपके पोस्ट के टाइटल को देखकर यूजर भी आपके पोस्ट में लिखी गई सामग्री के बारे में समझ पाता है।

इसलिए जब आप Title में मेन कीवर्ड डालते हैं तो Google के नये Ranking Factors के अनुसार आपको 22% का बढ़त मिलता है।

High Quality Backlinks (16%)

बाकी के 16 परसेंट का बढ़त पाने के लिए आपको High Authority Site से High Quality Backlinks बनाने होंगे। हाई क्वालिटी बैकलिंक्स बनाने के लिए यहां एक गाइड है। High Quality Backlink कैसे बनाएं

हाई क्वालिटी बैकलिंक्स के लिए गेस्ट पोस्टिंग सबसे उत्तम तरीका होता है। अगर आप जानना चाहते हैं कि गेस्ट पोस्टिंग क्या है और कैसे करें तो यहां एक गाइड है। Guest Post Kaise Kare.

Backlink के साथ-साथ आपके पोस्ट की क्वालिटी भी उत्तम होनी चाहिए ताकि जो भी विजिटर आपके उस पेज पर आए वो उस पोस्ट पर अच्छा प्रतिक्रिया देवें तभी बैकलिंक्स का भी फायदा होता है।

एक विषय पर पोस्ट लिखना (12%)

अगर आप अपने Blog या Website पर एक ही Nich या विषय पे पोस्ट लिख रहे हैं तो आपको आपके Page Ranking में एक्स्ट्रा 12 परसेंट का बढ़त मिल जाएगा।

एक ही विषय पर पोस्ट लिखना Nich Blogging कहा जाता है और एक विषय में भी एक बिंदु को टारगेट करना Micro Niche Blogging कहा जाता है।

गूगल अपने नए अपडेट में ये साफ कर दिया है कि एक विषय वाले Blog को ही ज्यादा वरीयता दी जाएगी बहुत से लोग अपने ब्लॉग को खिचड़ी बना देते हैं और हर तरह के विषय पर पोस्ट लिखते हैं लेकिन ये सही नहीं होता है आप एक ही विषय के एक्सपर्ट हो सकते हैं।

आंतरिक लिंक internal link 5%

अगर आप अपने पोस्ट में सही तरह से Interlinking करते हैं तो आपके Page Ranking में पांच परसेंट का बढत मिलेगा।

हम अपना पोस्ट लिखते समय उस पोस्ट में अपने ही ब्लॉग के दूसरे पोस्ट को लिंक करते हैं ताकि जो भी विजिटर आपके उस पोस्ट पर आए वो उस लिंक के द्वारा दूसरे दूसरे पेज पर भी जाए।

लेकिन Interlinking सही तरीके से होना चाहिए आप जिस कैटेगरी में पोस्ट लिख रहे हैं उसी कैटेगरी के अन्य पोस्ट को लिंक करें दूसरे कैटेगरी से पोस्ट का लिंक इस पोस्ट में ना डालें।

Visitors पेज पर कितना देर रुक रहे हैं (5%)

जब हम कोई पोस्ट पब्लिश करते हैं तो गूगल उस पोस्ट के लंबाई के अनुसार पोस्ट को पढ़ने में लगने वाले समय को दर्ज कर लेता है।

उदाहरण के लिए अगर आपने 1000 शब्दों का पोस्ट लिखा तो उसे पढ़ने में 5 मिनट लगते हैं तो अगर विजिटर आपके उस पोस्ट पर आकर 5 मिनट तक रुकते हैं तो आपको उस पेज के रैंकिंग के लिए 5% का बढ़त मिल जाता है।

Blog का Mobile Friendly होना (4%)

अगर आपका ब्लॉग किसी भी तरह के मोबाइल डिवाइस में ओपन करने पर उसमें फिट बैठ जाता है तो फिर आपका Blog Mobile Friendly है और Page Ranking में आपको 4 परसेंट मिलेगा।

ब्लॉग का मोबाइल फ्रेंडली होना इस बात को गूगल ने शुरुआती से ही वरीयता दिया है। कुछ साल पहले बहुत से थीम ऐसे होते थे जो आपके ब्लॉग को मोबाइल में सही तरीके से ओपन नहीं कर पाते थे लेकिन अब तो लगभग सभी थीम मोबाइल फ्रेंडली आ रहे हैं।

Blog Page का Speed (3%)

Page Ranking Factors में Page Speed भी हमें तीन परसेंट का बढ़त देता है। हमें अपना Blog या Website का Loading Speed ज्यादा से ज्यादा तेज रखना चाहिए जिससे हमारे पेजेस तेज गति से लोड होवें।

अगर आपके ब्लॉग या वेबसाइट का लोडिंग स्पीड स्लो है तो इसे फास्ट करने के लिए यहां एक गाइड है। Website की Loading Speed कैसे बढ़ाये इस पोस्ट को पढ़कर बताए गए नियमों को फॉलो करके अपने साइट का स्पीड को फास्ट करें।

Site की Security, SSL Certificate (2%)

अगर आपके साइट की सिक्योरिटी मजबूत है और आपका ब्लॉग https के साथ ओपन होता है तो आपको Page Ranking के लिए दो पर्सेंट का बढत मिलेगा।

आप अपने साइट को Cloudflare से कनेक्ट करके Free SSL और Free CDN का फायदा ले सकते हैं इसके लिए यहां एक गाइड है। Website को Cloudflare CDN से Connect कैसे करे

Schema Markup, Data का होना (1%)

हमें अपना साइड के लिए Schema Data बनाकर जरूर डालना चाहिए इससे गूगल को आपके साइट पर डाले गए सामग्री को पहचानने में आसानी होती है और पेज रैंकिंग में भी ये एक फैक्टर होता है।

URL में मेन कीवर्ड का होना (1%)

आपका ब्लॉग Blogger पर हो या WordPress पर पोस्ट डालते समय आप अपने उस पोस्ट का यूआरएल को कस्टम कर सकते हैं और मेन कीवर्ड को डाल सकते हैं ऐसा करने से गूगल को आपके उस पेज में डाली गई सामग्री के बारे में पता चलता है।

Meta Description में मेन कीवर्ड का होना (1%)

सर्च इंजन में रंग कर रहे आपके पोस्ट का टाइटल और मेटा डिस्क्रिप्शन दिखता है इसलिए मेटा डिस्क्रिप्शन को आकर्षक लिखे एवं उसमें आपका मेन कीवर्ड होना चाहिए क्योंकि Page Ranking में ये भी एक फैक्टर होता है।

नोट

ऊपर बताए गए पेज रैंकिंग के लिए परसेंटेज एवं फैक्टर्स हमने अपने अनुभवो के आधार पर एवं कुछ जानकारी गूगल के द्वारा आए हुए अपडेट से लिए हैं।

और अंत में

ऊपर हमने Page Ranking का मुख्य कारण बताया है आप इन सभी पहलुओं को ध्यान में रखकर Search Engine में अपने Page को Top में ला सकते हैं लेकिन आपके ब्लॉग का उम्र भी मायने रखता है।

आपका Blog कम से कम 6 महीना या ज्यादा से ज्यादा 1 साल पुराना होना चाहिए और 6 महीने या 1 साल की गिनती वर्किंग डे में होना चाहिए ऐसा नहीं है कि आपने ब्लॉग बनाकर 6 महीना के लिए छोड़ दिया आप जितना दिन काम करते हैं उतने ही दिन को गूगल गिनती में रखता है।

कहा जाता है कि गूगल हमारे नए ब्लॉग को 6 महीने से लेकर 1 साल तक सैंडबॉक्स में रखता है और इस दौरान हमारा ब्लॉग सर्च इंजन में रैंक नहीं करता है ऐसा गूगल स्पैमर्स को रोकने के लिए करता है।

हमें उम्मीद है आपको इस पोस्ट Blog Post Ko Google Ke First Page Pe Kaise Laye से आपके सवालों का जवाब मिल गया होगा अगर अभी भी आपके पास कोई सवाल या सुझाव है तो नीचे कमेंट करके हमें जरूर बताएं।

3 thoughts on “Blog Post Ko Google Ke First Page Pe Kaise Laye हिंदी में”

Leave a Comment