Make Website Fast With Google Cache | Cloudflare’s Automatic SXG

Make Website Fast With Google Cache गूगल ने हमारे Blog या वेबसाइट के स्पीड को Ranking Factor में शामिल कर लिया है यानी आपके वेबसाइट का रैंक ना कर पाने में स्पीड भी एक तरह से जिम्मेदार होगा।

लेकिन क्या आपको पता है अब Google ही आपके Blog या  Website के स्पीड को फास्ट करेगा और इसके लिए आपके पास बहुत सारा टेक्निकल जानकारी की आवश्यकता भी नहीं है सिर्फ एक क्लिक करने की जरूरत है।

हम Google AMP की बात नहीं कर रहे हैं क्योंकि यह एक पुराना किस्सा हो चुका है एमपी के द्वारा भी हमारा साइट का स्पीड फास्ट होता है लेकिन इस पोस्ट में हम Cloudflare के साथ में गूगल का एक दूसरा सर्विस की बात कर रहे हैं।

हम अपने Blog या Website के Loading Speed को Fast बनाने के लिए क्या-क्या नहीं करते हैं महंगा से महंगा Hosting लेते हैं, Caching Plugin का इस्तेमाल करते हैं Performance Plugin इंस्टॉल करते हैं इसके साथ ही Optimization Plugin भी रखते हैं।

लेकिन इतना सारी चीजें करने के बाद भी गूगल हमारे ब्लॉग या वेबसाइट के लिए कभी LCP कभी FID कभी CLS का प्रॉब्लम आने पर Google Search Console में page experience सेक्शन में हमें बहुत सारा एरर्स दिखाता है।

Make Website Fast With Google Cache | Cloudflare’s Automatic SXG

make website fast with google cache
make website fast with google cache

हमें अपने Blog या वेबसाइट के स्पीड को फास्ट करने के लिए फीचर्स और परफॉर्मेंस के बीच में एक बैलेंस बनाना होता है।

अपने Cloudflare का नाम जरूर सुना होगा और हो सकता है आप अपने Blog या वेबसाइट के लिए क्लाउडफ्लेयर को यूज भी कर रहे होंगे।

Cloudflare पूरी दुनिया में सबसे ज्यादा पॉपुलर CDN या Content Delivery Network है और ये करोड़ों वेबसाइट को बिल्कुल फ्री में CDN का सर्विस मुहैया कराती है।

अभी हाल ही में Cloudflare ने Google SXG (signed exchange) नामक सर्विस को लॉन्च किया है और इस सर्विस का फायदा लेने के लिए आपके पास बहुत सारा टेक्निकल जानकारी की जरूरत नहीं है आप सिर्फ एक क्लिक में इस सर्विस को चालू कर सकते हैं और अपने website के स्पीड को फास्ट कर सकते हैं।

Cloudflare के जरिए गूगल के इस सर्विस Cloudflare’s Automatic SXG का इस्तेमाल करने से पहले आइए इसके बारे में थोड़ी जानकारी ले लेते हैं कि आखिर ये है क्या और किस तरह से काम करता है।

SXG या signed exchange क्या है

बहुत साल पहले गूगल ने हमारे ब्लॉग या वेबसाइट के स्पीड को फास्ट करने के लिए AMP फ्रेमवर्क बनाया था लेकिन गूगल ने हीं SXG को भी वेबसाइट के स्पीड को फास्ट करने के लिए ही बनाया है।

SXG का मतलब होता है signed exchange और इसका मेन मकसद यह होता है कि किसी भी फाइल के ओरिजन को ऑथेंटिकेट करना।

उदाहरण के लिए हम फेसबुक को लेते हैं अगर फेसबुक पर आप किसी एक वीडियो को देखते हैं और वह वीडियो मेरे द्वारा बनाया गया होता है लेकिन अगर उस वीडियो में मेरा आवाज नहीं है मेरा चेहरा नहीं दिख रहा है तो फिर आप कैसे मानेंगे कि वह वीडियो मेरे द्वारा बनाया गया है।

वहीं दूसरी तरफ अगर उस वीडियो में मेरा आवाज भी है और मेरा चेहरा भी दिख रहा है तब आप ये तुरंत ही मान जाएंगे कि वो वीडियो मेरे द्वारा बनाया गया है।

तो इस वीडियो में मेरा आवाज और मेरा चेहरा ही signature कहां जाएगा और वीडियो में मेरा आवाज और मेरा चेहरा देखकर आपने कंफर्म कर लिया कि ये वीडियो मेरा है तो इसी को हम Signed Exchange कहते हैं।

अब हम यह समझने की कोशिश करते हैं कि रियल में SXG कैसे काम करता है उदाहरण के लिए आपने अपने वेबसाइट पर क्लाउडफ्लेयर के जरिए SXG को Enable कर रखा है तो क्लाउडफ्लेयर आपके Blog या वेबसाइट के कंटेंट को उठाएगा और उसमें से हेडर को हटाकर बिल्कुल लाइट हेडर को ऐड करेगा।

और फिर आपके साइट से लिए गए सभी कंटेंट को कैश करेगा और फिर इस कैश को गूगल के Crawler के पास भेज दिया जाएगा।

अब गूगल के पास आपके पेज के सभी डाटा Cache किया हुआ आ गया साथ ही साथ SXG के जरिए Signed Exchange भी आ गया इससे गूगल ये समझ पाएगा कि उसके पास जो डाटा आया है वो रियल में किसी वेबसाइट का डाटा है कोई फ्रॉड मलेशियश के द्वारा भेजा गया डाटा नहीं है।

अब जब आपके पेज का लिंक किसी भी ब्राउज़र में सर्च इंजन में दिखता है तो ब्राउज़र Signed Exchange के जरिए ये समझ पाते हैं कि ये डाटा फ्रॉड नहीं है या मलेशियश के द्वारा नहीं भेजा गया है और वो उसे स्टोर कर लेते हैं।

अब जब भी कोई व्यक्ति सर्च इंजन में दिख रहे आपके पेज के लिंक पर क्लिक करेगा तो क्योंकि ब्राउज़र के पास पहले से ही वो डाटा स्टोर है वो तुरंत ही आपके पेज को ओपन कर दिया करेंगे। तो पहले आपका पेज का स्पीड स्लो हुआ करता था अब सुपरफास्ट हो जाया करेगा।

यह सब बातें पढ़ने के बाद आपको बहुत ज्यादा टेक्निकली लग रहा होगा लेकिन SXG को Enable करना बहुत ही आसान कर दिया है Cloudflare ने, आप अपने क्लाउडफ्लेयर के अकाउंट में जाकर सिर्फ एक क्लिक में इसे Enable कर सकते हैं।

SXG को Blog या Website के साथ लिंक कैसे करें?

SXG को Blog या Website के साथ लिंक करने के लिए आपके पास क्लाउडफ्लेयर का अकाउंट पहले से होना चाहिए और उसमें आपका Blog या Website कनेक्ट होना चाहिए।

अगर आपने अभी तक अपने Blog या Website को क्लाउडफ्लेयर से कनेक्ट नहीं किया है तो यहां एक गाइड है। Website को Cloudflare CDN से Connect कैसे करे

लेकिन ध्यान रहे अभी तक आप क्लाउडफ्लेयर के फ्री प्लान को यूज कर रहे थे लेकिन SXG को Enable करने के लिए आपको क्लाउडफ्लेयर का पेड प्लान लेना होगा।

अपने Cloudflare Account में SXG Enable करने के लिए आप अपना क्लाउडफ्लेयर अकाउंट में लॉगिन करें और फिर अपने Blog या Website के ऊपर क्लिक करें।

अब ऊपर आपको बहुत सारे ऑप्शन मिलेगा इसमें Speed के टैब पर क्लिक करें और फिर नीचे दूसरा नंबर ऑप्शन Optimization पर क्लिक करें। (नीचे चित्र देखें)

Optimization पर क्लिक करें
Optimization पर क्लिक करें

और अब नीचे के तरफ स्क्रोल करें, आपको एक ऑप्शन मिलेगा automatic signed exchange (SXGs) इसके सामने SXG के बटन पर क्लिक करके इसे Enable करें। (नीचे चित्र देखें)

automatic signed exchange (SXGs)
automatic signed exchange (SXGs)

अगर आप क्लाउडफ्लेयर का फ्री प्लान यूज कर रहे हैं तो फिर उस बटन में Upgrade to Pro लिखा रहेगा फिर आप इसी बटन के ऊपर क्लिक करके इनका पेड प्लान ले लेवें तभी आप इस सर्विस को यूज़ कर पाएंगे।

SXG Support Browser

कुछ ब्राउज़र अभी SXG को Support नहीं कर रहे हैं जैसे Firefox, Safari और जो मेन ब्राउज़र है ज्यादातर यूज किए जाते हैं वो SXG को सपोर्ट कर रहे हैं जैसे Chrome, Microsoft Edge, Opera.

जो भी ब्राउज़र SXG को सपोर्ट नहीं कर रहे हैं वो भी आने वाले कुछ ही समय में इसे सपोर्ट करने लगेंगे।

Page Speed को Ranking Factor में क्युं डाला गया?

Google ने Page Speed को Ranking Factor में इसलिए डाला क्योंकि गूगल चाहता है कि लोग अपने Blog या Website के स्पीड एवं परफॉर्मेंस को सुधारें और इसे एक गंभीर मुद्दा समझे।

इससे गूगल एवं यूजर्स को दो तरह के फायदे मिलेंगे पहला तो ये कि सर्च इंजन में दिखने वाले आपके पेज पर क्लिक करने पर वो तुरंत ही ओपन हो जाया करेगा।

अगर सर्च इंजन में आए हुए रिजल्ट पर क्लिक करने पर वो साइट जल्दी से ओपन नहीं होगा तो ये भी हो सकता है कि एक नॉर्मल यूजर सर्च इंजन को ही ब्लेम कर सकता है।

दूसरा फायदा Page Speed से Google को ये मिलेगा कि गूगल के Crawler Web page को जल्दी से जल्दी Crawl कर पाएंगे।

ये भी पढ़ें
How To Right Perfect Title Tag For SEO

पैसा कमाने के लिए Blog VS Website कौन सही

और अंत में

अपना वेबसाइट के लोडिंग स्पीड को फास्ट बनाने के लिए एक अच्छा होस्टिंग अच्छा कैसीन प्लगइन के साथ ही गूगल के इस नए सर्विस SXG का इस्तेमाल करना भी जरूरी है।

अगर आपका बजट है तो क्लाउडफ्लेयर का प्रो प्लान लेकर SXG को जरूर Enable करें। हमें उम्मीद है इस पोस्ट Make Website Fast With Google Cache से आपको बहुत कुछ सीखने को मिला होगा, अगर अभी भी आपके पास कोई प्रश्न है तो नीचे कमेंट बॉक्स में जरूर लिखें।

Leave a Comment